Hanuman Ji Ki Aarti | हनुमान जी की आरती

hanuman ji ki aarti

Mark Favorite   Hanuman ji ki aarti – aarti Kije Hanuman Lala Ki, dusht dalan raghunaath kala kee, di gayi hai. हनुमान जी की आरती – आरती कीजै हनुमान लला की दी गाई है श्री हनुमत्-वन्दन अतुलित बलधामं हेम शैलाभदेहं दनुज-वन कृशानुं ज्ञानिनामग्रगण्यम्‌ । सकल गुण निधानं वानराणामधीशं रघुपति प्रियभक्तं (वर दूतं) वातजातं नमामि ॥ … Read more

Hanuman Ashtak | हनुमान अष्टक

Hanuman Ashtak

Mark Favorite Hanuman Ashtak Lyrics or you can say Sankat Mochan Hanuman Ashtak is given below. हनुमान अष्टक या आप कह सकते हैं संकट मोचन हनुमान अष्टक नीचे दिया गया हैं। Hanuman Ashtak | संकट मोचन हनुमान अष्टक चौपाई बाल समय रवि भक्षि लियो तब, तीनहुँ लोक भयो अँधियारो । ताहि सों त्रास भयो जग … Read more

Hanuman Chalisa Lyrics | श्री हनुमान चालीसा

hanuman chalisa lyrics

Mark Favorite Hanuman chalisa lyrics niche diye gaye hain. Shri Hanuman Chalisa praarambh. हनुमान चालीसा के बोल निचे दिए गए हैं। श्री हनुमान चालीसा प्रारम्भ। Hanuman Chalisa Lyrics | श्री हनुमान चालीसा लिरिक्स Hanuman Chalisa in Hindi दोहा श्री गुरु चरन सरोज रज, निज मनु मुकुरु सुधारि ।बरनऊं रघुबर बिमल जसु, जो दायकु फल चारि … Read more

Manas Puja – मानस पूजा संस्कृत में हिन्दी अर्थ सहित

manas puja

Mark Favorite Manas Puja – मानस पूजा का अर्थ → मानस, जिसका अर्थ है “मन” या “विचार”, और पूजा, जिसका अर्थ है “अर्चना”, “पूजन”। बाह्य-पूजा (बाह्य का अर्थ बाहरी शुद्धि से है।) के साथ-साथ मानस पूजा का भी अत्यधिक महत्त्व है। जो बाह्य-पूजा न कर सकें वे मानस पूजा तो कर ही सकते हैं। यहाँ … Read more

Amogh Shiv Kavach | अमोघ शिव कवचम्

amogh shiv kavach

Mark Favorite Amogh Shiv Kavach jise hum Shiv Amogh Kavach yaan Shiv kavach bhi kehte hain, yahan humne pehle Amogh Shri Shiv Kavach sanskrit mein aur fir uske baad me Amogh Shri Shiv Kavach hindi mein prastut kiya hai. Is prakar amogh shiv kavach lyrics arth sahit likha gaya hai. (अमोग शिव कवच जिसे हम … Read more

Aarti Kya Hai Aur Kaise Karani Chahiye

Aarti Kya Hai Aur Kaise Karani Chahiye

Mark Favorite Aarti kya hai aur kaise karani chahiye – आरती क्या है और कैसे करनी चाहिये? जानने के लिये निचे दी गयी जानकारी को पढ़ें और अपने परिजनों को भी बताएँ। आरती क्या है और कैसे करनी चाहिये? आरती को “आरात्रिक” अथवा “आरार्तिक” और “नीराजन” भी कहते हैं। पूजा के अंत में आरती की … Read more

Ganesh Ji Ki Aarti | गणेश जी की 5 आरतियां

ganesh ji ki aarti

Mark Favorite Yahan pe humne Bhagwan Shri Ganesh Ji ki Aarti lyrics aur vandana aapke ke liye likhi huyi hain, jisme yeh aartiyan sammilit hai “Jay Ganesh Jay Ganesh Jay Ganesh Deva”, Shri Ganesh Aarti Marathi mein “Sukh karta Dukh Harta”, “Shendur Lal Chadhayo”, “Aarti Gajbadan Vinayak ki” aur “Shri Ganpati bhaj pragat Parvati Ank … Read more